Monday September 25,2017

केवाईसी क्या होता है ?

Published Aug 18, 2016   विवेक रस्‍तोगी  

केवाईसी याने की अपने ग्राहक को जानना, वैसे तो जिस बैंक या वित्तीय संस्था में आप लेन देन करते हैं, वहां आपको सब जानते हैं, लेकिन किसी और जगह आप वित्तीय लेनदेन करने जाएंगे तो वे आपको नहीं जानते। तो सभी वित्तीय संस्थान आपको जाने कि आपकी उम्र कितनी है, आप आज कितने रकम रखते हैं, जिससे वे आपको उपयुक्त बातें बता पाएं।

अगर आप कोई बड़ी रकम जमा कर रहे हैं तो उन्हें कोई ऐतराज नहीं होगा क्योंकि उन्हें केवाईसी से पता चल जाएगा कि आप इतनी रकम जमा कर सकते हैं और किसी तरह की गलत कमाई का पैसा यहां जमा नहीं कर रहे हैं।

केवाईसी का मतलब होता है अपने ग्राहक को जानने की प्रक्रिया। सेबी ने हवाला निरोधक एक्ट 2002 के अतर्गत दिशा निर्देश दिए हैं, जिससे कि सारे वित्तीय संस्थान और मध्यवर्ती संस्थानों जैसे कि म्‍युचुअल फंड को अपने ग्राहक से परिचित होना जरूरी है, इसे ही केवाईसी का नाम दिया गया है।

केवाईसी प्रक्रिया से हवाला और संदेहजनक ट्रांजेक्शन को रोकने में मदद मिलती है। केवाईसी की प्रक्रिया ऑफलाइन होती है, याने कि आपको फॉर्म भरकर वित्तीय संस्थान यानि कि बैंक या फिर सीएएमसी के कार्यालय में जमा करवाना होता है।

(मोलतोल ब्यूरो; +91-75974 64665)




The Forex Quotes are powered by Investing.com.

Commodities are powered by Investing.com

Live World Indices are powered by Investing.com

मोलतोल.इन साइट को अपने मोबाइल पर खोलने के लिए आप इस QR कोड को स्कैन कर सकते है..