Tuesday June 27,2017

समूचे भारत में कैसा रहेगा मौसम 18 मार्च को

Published Mar 17, 2017   मोलतोल संवाददाता  

नई दिल्‍ली। जम्मू कश्मीर और आसपास के भागों पर पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। एक अन्य नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तर के पश्चिमी हिमालयी भागों तक 19 मार्च को पहुंच सकता है। उत्तर के मैदानी भागों में उत्तर-पूर्वी राजस्थान से गुजरात तक एक ट्रफ रेखा भी बनी हुई है।

स्‍काइमेट के मुताबिक महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र से लक्षद्वीप तक Wind discontinuity बनी हुई है। उत्तरी और आंतरिक कर्नाटक के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र देखा जा सकता है। उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल से दक्षिणी ओड़ीशा तक भी एक ट्रफ रेखा बनी हुई है।

मौसमी गतिविधियां : जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कई स्थानों पर वर्षा और बर्फबारी दर्ज की गई है। महाराष्ट्र, तेलंगाना और कर्नाटक में गरज के साथ बौछारें रिकॉर्ड की गई हैं। इन भागों में एक-दो स्थानों पर तेज़ हवाओं के साथ ओलावृष्टि की भी खबर है। दक्षिण भारत के तमिलनाडु और केरल में कहीं-कहीं गरज के साथ बौछारें दर्ज की गई हैं। देश के शेष सभी हिस्सों में मौसम मुख्य रूप से शुष्क बना रहा।

मौसमी पूर्वानुमान : उत्तर भारत को अभी भी एक पश्चिमी विक्षोभ प्रभावित कर रहा है। इसके चलते जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कुछ स्थानों पर वर्षा और हिमपात जारी रहने की संभावना है।

स्‍काइमेट का कहना है कि उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल सहित पूर्वोत्तर भारत के राज्यों, महाराष्ट्र, तेलंगाना और कर्नाटक में कुछ स्थानों पर गरज और तूफानी हवाओं के साथ बारिश होने के आसार हैं। ऐसी ही गतिविधियां गंगीय पश्चिम बंगाल और तटवर्ती ओड़ीशा में भी देखने को मिल सकती हैं।

केरल, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में कुछ स्थानों पर बारिश की गतिविधियां संभावित हैं। राजस्थान, इससे सटे मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों और दिल्ली तथा हरियाणा में धूल भरी आँधी चलने या बादलों की गर्जना होने का अनुमान है।

(मोलतोल ब्‍यूरो; +91-75974 64665)




The Forex Quotes are powered by Investing.com.

Commodities are powered by Investing.com

Live World Indices are powered by Investing.com

मोलतोल.इन साइट को अपने मोबाइल पर खोलने के लिए आप इस QR कोड को स्कैन कर सकते है..