Sunday November 19,2017

संपूर्ण भारत का 11 सितंबर 2017 का मानसून अनुमान

Published Sep 11, 2017 05:15:00   मोलतोल संवाददाता  

नई दिल्‍ली। मानसूनकी अक्षीय रेखा हिमालय की तराई इलाकों से गुज़र रही है। एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र दक्षिण-पूर्व अरब सागर और लक्षद्वीप के आस पास के इलाकों पर देखा जा सकता है।

दक्षिण पश्चिम बंगाल की खाड़ी पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्रबना हुआ है। इन दो चक्रवाती हवाओं के क्षेत्रों के बीच एक ट्रफ़ रेखा जा रही है। तटीय महाराष्ट्र से लक्षद्वीप तक एक और ट्रफ़ रेखा जा रही है। उत्तर-अरब सागर से दक्षिणी गुजरात तक एक तीसरी ट्रफ़ रेखा जा रही है। एक विपरीत चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र राजस्थान में बना हुआ है।

मॉनसून का प्रदर्शन : उत्तर-पूर्व राज्य, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, दक्षिण कर्नाटक और तमिलनाडु पिछले 24 घंटों में मॉनसून व्यापक रूप से सक्रिय रहा।

वहीं केरल, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के हिस्सों में सक्रिय मॉनसून की स्थिति देखी गयी। इस बीच, बिहार, झारखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में मॉनसून सामान्य रहा। पिछले 24 घंटों में चेरपूंजी में 223 मिमी बारिश, सिलीगुड़ी में 142 मिमी और कूच बिहार में 95 मिमी दर्ज की गई। देश के बाकी हिस्सों में मौसम मुख्यतः शुष्क बना रहा।

मॉनसून का संभावित प्रदर्शन और वर्षा : अगले 24 घंटों में मध्य केरल, दक्षिण कर्नाटक, पश्चिम तमिलनाडु, असम, मेघालय, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम में मॉनसून व्यापक रूप से सक्रिय रहेगा। वहीं हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उत्तर मध्य महाराष्ट्र, दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और शेष तमिलनाडु में सामान्य मॉनसून की स्थिति देखी जा सकती है।

गंगीय पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और दक्षिण गुजरात में मॉनसून सामान्य रहेगा। दिल्ली सहित उत्तर-पश्चिमी मैदानों के अधिकांश हिस्सों में शुष्क मौसम बना रहेगा।

(मोलतोल ब्‍यूरो; +91-75974 64665)




The Forex Quotes are powered by Investing.com.

Commodities are powered by Investing.com

Live World Indices are powered by Investing.com

मोलतोल.इन साइट को अपने मोबाइल पर खोलने के लिए आप इस QR कोड को स्कैन कर सकते है..