Sunday November 18,2018

ये पांच गोपनीय बातें नहीं बताएं किसी को भी

Published Aug 19, 2017 04:56:00   मोलतोल संवाददाता  

हमें हमेशा ही सलाह दी जाती है कि हर चीज को मिल बांटकर उपयोग करना चाहिए और इससे प्यार बढ़ता है, इस तरह की बातें लगभग हर समय आती हैं जब भी हम अपने बच्चों या परिवार के साथ समय बिताते हैं। फिर भले वह भोजन के लिए हो या खिलौने या मिठाई किसी भी बात के लिए हो, लेकिन इन सबमें मिल बांटकर उपयोग करने से वाकई प्यार बढ़ता है। लेकिन जब बात आती है वित्तीय जानकारी की तो जहां तक हो सके इन वित्तीय जानकारी को अपनी पत्नी क्या अपने बच्चों को भी नहीं बताना चाहिए।

कार्ड की जानकारी : क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का नंबर, एक्सपायरी दिनांक, आपका पूरा नाम जो कार्ड पर है, वैसे तो बहुत सारे लोग आपका नाम जानते ही होंगे,लेकिन फिर भी अपने कार्ड से संबंधित कोई भी जानकारी किसी को भी नहीं दें। जब भी ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन करते हैं तब यह सारी जानकारियां देनी होती हैं। यही जानकारी पहली सुरक्षा चक्र को भेदने जैसे होती है। अगर किसी के पास यह जानकारी नहीं है तो कोई आपके क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का उपयोग नहीं कर सकता। अपनी इन सारी जानकारियों को सुरक्षित रखें, इसे किसी को भी न बताएं और न ही पता चलने दें।

सीवीवी : ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन को पूरा करने के लिए इसकी जरूरत होती है। यह जानकारी भी आपके कार्ड पर छपी होती है और इस जानकारी को आपको किसी को भी नहीं बताना चाहिए।

पासवर्ड : अगर आप नेट बैंकिंग या ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग करते हैं, तो आपको पता होना चाहिए कि ट्रांजैक्‍शन बिना गोपनीय जानकारी दिए बिना पूरा नहीं किया जा सकता है, जैसे कि कस्टमर आईडेंटिफिकेशन नंबर या यूजर आईडी, कार्ड की जानकारी और उसका पासवर्ड। आपके कार्ड पर जो जानकारी है वह तो शायद फिर भी आपकी जानकारी के बिना भी कोई जान सकता है लेकिन पासवर्ड एक ऐसी सुरक्षा है जो केवल और केवल आपको पता होता है। आप इसके बारे में किसी के कुछ भी नहीं बताएं। ध्यान रखें कि अपने पासवर्ड एक निश्चित समय सीमा के बाद बदलते रहें।

पिन : डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड से एटीएम से पैसे निकालने के लिए आपको पर्सनल आईडेंटिफिकेशन नंबर याने कि पिन की जरूरत होती है, उसके बिना आप एटीएम से पैसे नहीं निकाल सकते हैं। पिन जो है वह बहुत ही गोपनीय होना चाहिए और सुरक्षा के लिहाज से यह बहुत ही जरूरी भी है। पिन नंबर को कभी भी किसी को नहीं बताना चाहिए और जब भी एटीएम या किसी पीओएस मशीन पर स्वाइप कर रहे हों तो अपना पिन नंबर डालते समय यह जरूर सुनिश्चित कर लें कि कोई और आपका पिन नहीं देख रहा है, नहीं तो दूसरे हाथ से कीपैड छुपा लें। ध्यान रखें कि इस गोपनीय पिन को चुराना बहुत ही आसान है, कोई भी आपके पीछे खड़े होकर यह आराम से देख सकता है।

ओटीपी : ओटीपी यानि वन टाइम पासवर्ड यह ट्रांजैक्‍शन को बहुत ही सुरक्षित बनाने के लिए टू फेक्टर अथेंटिकेशन के लिए शुरू किया गया है, जो कि आपके सारे ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन सुरक्षित करता है। जब भी आप क्रेडिट कार्ड से ऑनलाइन कोई भी खरीददारी करते हैं या नेट बैंकिंग या वैलेट से करते हैं तो इसके लिए एक ओटीपी आपके पंजीकृत मोबाइल पर भेजा जाता है, और यह ट्रांजैक्‍शन के पूरा होने की आखिरी सुरक्षा होती है, और यहां तक आप बहुत सारे सुरक्षा चक्रों को पार करके पहुंचते हैं। ध्यान रखें कि अगर आप अपने ओटीपी को किसी को भी बता रहे हैं तो आप सीधे सीधे अपनी पूरी वित्तीय जानकारी कुछ मिनिट या एक ट्रांजैक्‍शन के लिए किसी को दे रहे हैं और कोई भी इस बात का गलत फायदा उठाकर पूरा खाता साफ कर सकता है। हमेशा ही अगर कोई भी आपसे इन जानकारियों को साझा करने की बात करें तो हमेशा ही उस व्‍यक्ति को आप शक की नजरों से देखें और यह भी ध्यान रखें कि आपका बैंक या कोई और वित्तीय संस्था कभी भी इस तरह की जानकारी अपने ग्राहक से नहीं मांगती हैं। कई बार इसी बाबत बैंक अपने ग्राहकों को सुरक्षित रहने के मद्देनजर एमएसएस भेजती रहती हैं।

(मोलतोल ब्‍यूरो; +91-75974 64665)





The Forex Quotes are powered by Investing.com.

Live World Indices are powered by Investing.com

मोलतोल.इन साइट को अपने मोबाइल पर खोलने के लिए आप इस QR कोड को स्कैन कर सकते है..